श्री गुरुजी को अटलजी की श्रद्धांजलि (जून 1973)

शूलों की शय्या पर इच्छा-मरण – (श्री) अटलबिहारी वाजपेयी (५ जून १९७३) सवेरे का समय, चाय-पान का वक्त, पूजनीय श्री गुरुजी के कमरे में (उसे कोठरी कहना ही अधिक उपयुक्त होगा) जब हम लोग प्रविष्ट हुए तब वे कुर्सी पर बैठे हुए थे। चरण स्पर्श के लिए हाथ बढ़ाये। सदैव की भांति पाँव पीछे खींच लिये। मेरे साथ आये हुए स्वयंसेवकों का परिचय हुआ। उनमें आदिलाबाद के एक डॉक्टर थे। श्री गुरुजी विनोदवार्ता सुनाने लगे कि एक मरीज एक डॉक्टर के पास गया। डॉक्टर ने पूछा – क्या कष्ट है? सारी कहानी सुनाओ। मरीज बिगड़ गया और बोला – अगर आगे पढ़ें …